Breaking News

राज्यपाल जगदीप धनखड़: चुनाव बाद बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत ही खतरनाक

एजेंसी, कोलकाता
Published by: Kuldeep Singh
Updated Mon, 07 Jun 2021 03:38 AM IST

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़
– फोटो : पीटीआई

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रविवार को एक बार फिर राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत ही खतरनाक हो गई है।

राज्यपाल ने मुख्य सचिव को किया तलब, कहा-राजनीतिक विरोधियों को बनाया जा रहा निशाना
राजनीतिक विरोधियों की हत्याओं और दुष्कर्म के कई मामले सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि वह मुख्य सचिव एचके द्विवेदी को तलब कर प्रतिशोधात्मक हिंसा को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी लेंगे। 

राज्यपाल ने ट्वीट में यह भी दावा किया कि प्रदेश पुलिस राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ हिंसा में सत्तारूढ़ दल के पक्ष में खड़ी है। चुनाव बाद प्रदेश में लाखों लोगों को डर की वजह से पलायन करना पड़ा और करोड़ों रुपये की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत ही भयावह है। सुरक्षा से समझौता किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि ऐसी गंभीर परिस्थिति में मुख्य सचिव को कानून व्यवस्था की स्थिति पर जानकारी देने के लिए सोमवार तलब किया है और उनके चुनाव बाद हिंसा को रोकने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी लूंगा। उन्होंने आरोप लगाया कि जिन लोगों ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ मतदान किया, उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।   

उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के विरोधी दलों को वोट देने वाले लोगों के सामाजिक बहिष्कार और सुविधाओं से वंचित किए जाने की घटनाओं की निंदा की। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को अपने ही घरों में रहने या अपना कारोबार चलाने के लिए जबरन फिरौती देनी पड़ रही है। सत्तारूढ़ दल ने लोकतांत्रिक मूल्यों को खुले तौर पर कुचल दिया है। लोग पुलिस और सत्तारूढ़ दल के गुंडों के भय में जी रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार व प्रशासन इस समस्या पर ध्यान नहीं दे रही है और इसे रोकने के लिए कदम नहीं उठा रही है।

बंगाल में भारी मात्रा में हथियार व विस्फोटक बरामद, दो दबोचे
पश्चिम बंगाल में दो लोगों को गिरफ्तार कर उनसे भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किया गया है। जिले के एसपी नागेंद्र त्रिपाठी ने रविवार को बताया कि खुफिया जानकारी के आधार पर राज्य पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने सूरी में एक ट्रक को जांच के लिए रोका। तलाशी लेने पर उसमें से पांच उन्नत 7 एमएम की पिस्टल, 10 मैगजीन, 30 कारतूस और 20 किलो विस्फोटक पदार्थ जब्त किए। उन्होंने कहा कि इस मामले की गहन जांच की जा रही है।

विस्तार

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रविवार को एक बार फिर राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत ही खतरनाक हो गई है।

राज्यपाल ने मुख्य सचिव को किया तलब, कहा-राजनीतिक विरोधियों को बनाया जा रहा निशाना

राजनीतिक विरोधियों की हत्याओं और दुष्कर्म के कई मामले सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि वह मुख्य सचिव एचके द्विवेदी को तलब कर प्रतिशोधात्मक हिंसा को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी लेंगे। 

राज्यपाल ने ट्वीट में यह भी दावा किया कि प्रदेश पुलिस राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ हिंसा में सत्तारूढ़ दल के पक्ष में खड़ी है। चुनाव बाद प्रदेश में लाखों लोगों को डर की वजह से पलायन करना पड़ा और करोड़ों रुपये की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत ही भयावह है। सुरक्षा से समझौता किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि ऐसी गंभीर परिस्थिति में मुख्य सचिव को कानून व्यवस्था की स्थिति पर जानकारी देने के लिए सोमवार तलब किया है और उनके चुनाव बाद हिंसा को रोकने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी लूंगा। उन्होंने आरोप लगाया कि जिन लोगों ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ मतदान किया, उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।   

उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के विरोधी दलों को वोट देने वाले लोगों के सामाजिक बहिष्कार और सुविधाओं से वंचित किए जाने की घटनाओं की निंदा की। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को अपने ही घरों में रहने या अपना कारोबार चलाने के लिए जबरन फिरौती देनी पड़ रही है। सत्तारूढ़ दल ने लोकतांत्रिक मूल्यों को खुले तौर पर कुचल दिया है। लोग पुलिस और सत्तारूढ़ दल के गुंडों के भय में जी रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार व प्रशासन इस समस्या पर ध्यान नहीं दे रही है और इसे रोकने के लिए कदम नहीं उठा रही है।

बंगाल में भारी मात्रा में हथियार व विस्फोटक बरामद, दो दबोचे

पश्चिम बंगाल में दो लोगों को गिरफ्तार कर उनसे भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किया गया है। जिले के एसपी नागेंद्र त्रिपाठी ने रविवार को बताया कि खुफिया जानकारी के आधार पर राज्य पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने सूरी में एक ट्रक को जांच के लिए रोका। तलाशी लेने पर उसमें से पांच उन्नत 7 एमएम की पिस्टल, 10 मैगजीन, 30 कारतूस और 20 किलो विस्फोटक पदार्थ जब्त किए। उन्होंने कहा कि इस मामले की गहन जांच की जा रही है।

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

About R. News World

Check Also

भड़काऊ भाषण: कलकत्ता हाईकोर्ट ने मिथुन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से उपलब्ध होने का निर्देश दिया

एजेंसी, कोलकाता Published by: Kuldeep Singh Updated Sat, 12 Jun 2021 03:24 AM IST ख़बर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *