Breaking News

राशन बांटने पर राजनीति का आरोप: कांग्रेस ने कहा – ‘घर घर शराब’ पहुंचाने वाली योजना पर सहमति पर राशन बांटने पर नहीं

  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Congress Said Not On Distributing Ration On Consent On The Plan To Deliver ‘liquor From House To House’

नई दिल्ली6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • केजरीवाल ने 463 राशन की दुकानों को बंद कर 420 से अधिक नए ठेके खोले: अनिल
  • कांग्रेस का आरोप राशन बांटने पर राजनीति कर रही आप-भाजपा

कांग्रेस ने केजरीवाल और भाजपा के द्वारा घर-घर राशन योजना को लेकर छिड़े विवाद पर चिंता जताई है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा है कि जब केजरीवाल को शराब माफियाओं को लाभ पहुंचाना होता है तो उपराज्यपाल से बिना किसी टकराहट के ‘घर घर शराब’ पहुंचाने वाली योजना पर सहमति बना लेते है।

लेकिन जब आम लोगों को राशन मुहैया कराने होते है तो गरीबों से जुड़ी योजनाओं को गंदी राजनीति करने का हथियार बनाते है। उन्होंनें कहा कि शीला दीक्षित सरकार के दौरान दिल्ली में 31 लाख राशन कार्ड थे जो अब घटकर 17 लाख राशन कार्ड हो गए है।

उन्होंनें कहा कि केजरीवाल सरकार ने 463 राशन की दुकानों को बंद कर 420 से अधिक नए शराब के ठेके खोले। अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल की नियत गरीबों को राशन पहुंचाने की नहीं है, केजरीवाल भाजपा के साथ मिलकर ‘घर-घर राशन योजना’ का इस्तेमाल समय-समय पर दिल्ली वासियों को गुमराह करने के लिए करते रहे है।

उन्होंनें कहा कि केजरीवाल व भाजपा की सरकार कोरोना काल में लोगों को राहत व टीके देने में विफल रही है,कोरोना योद्धाओं को सम्मान नहीं दिया; अब दोनों सरकारें पुनः मूल मुद्दे से भटकाने के लिए नूरा-कुश्ती कर रही है। चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल सरकार की अगर मंशा लोगों को राशन पहुंचाने की होती तो राज्य स्तर पर जिन लगभग 54 लाख लाभार्थी के राशन कार्ड आवेदन पिछले 7 वर्षों से पेंडिंग है, उन्हें राज्य स्तर पर योजना बना राशन मुहैया कर सकते थे।

खबरें और भी हैं…

दिल्ली + एनसीआर | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

खोरी कॉलोनी को तोड़ने के आदेश: भू-माफियाओं ने हरियाणा सरकार की जमीन बेचकर बसा दी कॉलोनी, बिजली दे रही दिल्ली, और कार्रवाई सिर्फ इन गरीबों पर

फरीदाबाद42 मिनट पहले कॉपी लिंक ​​​​​​​35 से 40 साल में नगर निगम, � सुप्रीम कोर्ट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *