Breaking News

राहुल गांधी के निशाने पर मोदी सरकार: कांग्रेस नेता आज सुबह 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे; कोविड मिसमैनेजमेंट पर भी श्वेत पत्र भी जारी करेंगे

  • Hindi News
  • National
  • Rahul Gandhi Live | Rahul Gandhi, Congress Leader Rahul Gandhi, White Paper On COVID 19, Corona White Paper, Narendra Modi

नई दिल्लीकुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक

कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी देश में कोरोना के हालात को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर रहे हैं। इसी के मद्देनजर वे आज सुबह 11 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने जा रहे हैं। यह कॉन्फ्रेंस वर्चुअल माध्यम से होगी। इस दौरान वे कोविड मिसमैनेजमेंट पर एक श्वेत पत्र भी जारी करेंगे।

वैक्सीन शॉर्टेज पर केंद्र की आलोचना की
इससे पहले राहुल ने वैक्सीनेशन ड्राइव को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। राहुल ने कहा था कि देश को तेज और पूरी वैक्सीनेशन ड्राइव की जरूरत है। देश को भाजपा के झूठे दावों की जरूरत नहीं है। भाजपा सिर्फ झूठे स्लोगनों के जरिए वैक्सीन की किल्लत को छिपाने की कोशिश कर रही है।

कोरोना को लेकर हमलावर रहे हैं राहुल
इससे पहले 28 मई को राहुल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री मोदी पर तीखा हमला बोला था। राहुल ने कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर के लिए प्रधानमंत्री की नौटंकी जिम्मेदार हैं। वे कोरोना को समझ ही नहीं पाए। देश में जो डेथ रेट बताई गई वह भी झूठ है। सरकार को सच बोलना चाहिए।

वैक्सीनेशन पर राहुल के दो बड़े आरोप
1. सरकार की वैक्सीन स्ट्रैटजी फेल

राहुल ने कहा था कि कोरोना से निपटने के 4 तरीकों- टेस्टिंग, ट्रैकिंग, ट्रीटमेंट और वैक्सीनेशन में से किसी भी सरकार के लिए 70-80% लोगों को टीके लगवाना सबसे सही बात होती। लेकिन सरकार यह अनुमान लगाने में ही विफल हो गई कि-

  • कितने लोगों को वैक्सीन की जरूरत होगी?
  • वैक्सीन के कितने डोज का ऑर्डर देना होगा?
  • देश की अपनी वैक्सीन बनाने की क्षमता कितनी होगी?
  • कितने वैक्सीन बाहर से मंगवानी होंगी और यह ऑर्डर कौन देगा?

2. वैक्सीन ऑर्डर में नाकामी माफी लायक नहीं
राहुल ने कहा था कि दूसरे देशों ने मई 2020 में ही वैक्सीन खरीद के ऑर्डर देने शुरू कर दिए थे। लेकिन मोदी सरकार ने भारत को नाकाम कर दिया। उसने वैक्सीन का पहला ऑर्डर जनवरी 2021 में दिया। सार्वजनिक जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार और राज्य सरकारों ने 140 करोड़ की आबादी और 18 साल से ऊपर के 94.50 करोड़ लोगों के लिए अब तक सिर्फ 39 करोड़ डोज ऑर्डर किए हैं। प्रमुख देशों में भारत की पर कैपिटा डोज खरीद सबसे कम है।

खबरें और भी हैं…

देश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

राजस्थान को कोयला खनन के लिए मिली पर्यावरण क्लीयरेंस: केन्द्र ने RVUNL की छत्तीसगढ़ में पारसा-केंटे कैप्टिव कोल ब्लॉक से सेकेंड फेज माइनिंग की मंजूर

Hindi News National Center Approves Second Phase Mining Of RVUNL Rajasthan From Parsa Kente Captive …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *