Breaking News

लद्देवाली आरओबी प्रोजेक्ट: फाटक बंद होने से कोट राम दास की गलियों में लगता है लंबा जाम, बच्चों का बाहर निकलना भी मुश्किल

  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Due To The Closure Of The Gate, There Is A Long Jam In The Streets Of Kot Ram Das, It Is Also Difficult For The Children To Come Out

जालंधरएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक

फोटो सुरी701 फाटक बंद होने के बाद वाहनों की लंबी लाइनें

  • परेशान दुकानदार व इलाकावासी बोले- 20 सालों में एेसे हालात नहीं देखे

चौगिट्टी-लद्देवाली आरओबी प्रोजेक्ट को शुरू करने से पहले प्रशासन ने बड़े-बड़े दावे किए थे कि जिस तरफ ट्रैफिक को डायवर्ट किया जाएगा, वहां मुलाजिमों को तैनात किया जाएगा और लोगों को परेशानी नहीं आने दी जाएगी। लेकिन प्रशासन के ये दावे खोखले साबित होते नजर आ रहे हैं।

कोट राम दास और डाॅ. अंबेडकर नगर के लोग रोजाना वाहनों के लगने वाले जाम से परेशान हो रहे हैं। 23.47 करोड़ की लागत से चौगिट्टी लद्देवाली रेलवे फाटक पर आरओबी तैयार किया जा रहा है। जिस कारण रामा मंडी और यूनिवर्सिटी रोड की तरफ जाने वाले वाहनों को कोट राम दास मोहल्ले की तरफ से गुजारा जा रहा है।

लेकिन जब फाटक बंद होता है तो लंबा जाम लग जाता है। क्योंकि 10 फुट की गलियों में एक समय में दो कारों को निकलने के लिए काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है। जाम को संभालने के लिए कोई मुलाजिम तैनात नहीं है। जिस कारण दुकानदार अपना सामान बाहर नहीं रख सकते और बच्चों को घरों से बाहर निकलने नहीं दिया जा रहा है।

20 सालों से रह रहें, आज तक नहीं लगा इतना लंबा जाम

कोट राम दास निवासी सोनू ने बताया कि उनकी दुकान घर के बाहर ही है और वे 20 सालों से यहीं पर फोटो फ्रेमिंग का काम कर रहे है। लेकिन आज तक फाटक बंद होने और खुलने के बाद इतना लंबा जाम देखने को नहीं मिला।

पिछले छह महीने से 10 फुट की गलियों में रोजाना लंबी लाइनें लग रही है और वाहन चालक आपस में उलझते नजर आते हैं। क्योंकि गली छोटी होने के कारण एक समय में दो कारें नहीं निकल पाती और कई बार वाहन चालक आपस में बहस करने लगते हैं।यहां कोई भी मुलाजिम तैनात नहीं होने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

समय पर खत्म नहीं होगा काम, दुकानदार दुकानें बंद करके घरों में बैठने को मजबूर

समाज सेवक हरजिंदर सिंह ढींढसा ने कहा कि चौगिट्टी फाटक पर आरओबी तैयार होने से लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। लेकिन काम काफी धीमी गति से चल रहा है, जिस कारण काम तय समय पर पूरा होने वाला नहीं है। दुकानदार अपनी दुकानें बंद करके घरों में बैठे हुए हैं।

लोगों को दो साल तक इस परेशानी का सामना करना पड़ेगा। जाम से निजात दिलाने के लिए मुलाजिम तैनात किए जाने चाहिए। हैवी वाहनों को रामा मंडी की तरफ डायवर्ट किया गया है। लेकिन इसके बावजूूद कई वाहन अभी भी कोट राम दास की तंग गलियों से गुजर रहे हैं, जिस कारण लोग परेशान है।

वाहनों के डर से बच्चे बाहर नहीं आ रहे

इलाकावासी संदीप ने बताया कि सारा दिन ही इस रोड पर वाहन दौड़ते रहते हैं। पहले बच्चे गली में निकल जाते थे। लेकिन अब वाहनों के डर से नहीं निकल रहे। क्योंकि सारा दिन ही कोट राम दास की गलियों में वाहन दौड़ते रहते हैं और डर रहता है कि कहीं कोई हादसा न हो जाए। इसलिए प्रशासनिक अधिकारियों से मांग है कि फाटक के पास और यूनिवर्सिटी रोड के पास मुलाजिम तैनात किए जाएं।

दुकानदारी हो रही खराब

सुष्मा ने बताया कि चौगिट्टी फाटक पर अारओबी बनने से जहां लोगों को फाटक बंद होने से निजात दिलाई जा रही है तो दूसरी तरफ कोट राम दास की गलियों में वाहनों की लंबी लाइनें लग रही हैं। जिससे दुकानदारों को काफी नुकसान हो रहा है। प्रशासन से मांग है कि इसका हल जरूर निकालें, ताकि लोगों को राहत मिल सके। क्योंकि पिछले काफी समय से दुकानदारों की अधिकतर दुकानें भी बंद ही है। ​​​​​​​

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

विरोध प्रदर्शन: रैनक बाजार और घरों के ऊपर से निकलतीं तारें शिफ्ट न होने पर कौंसलर 16 जून को देंगे धरना

जालंधर4 घंटे पहले कॉपी लिंक रैनक बाजार में तीन माह पहले मंजूर हुए बिजली की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *