Breaking News

वापी लव-जेहाद के मामले में खुलासा: पत्नी ने भी की मदद, आरोपी ने पत्नी को बता दिया था कि वह लड़की को कुछ दिन के लिए भगाकर ले जा रहा है

वापी (गुजरात)3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शादी करने का झांसा देकर लड़की को 10 जून को भगाकर ले गया था आरोपी इमरान वंशी अंसारी।

धर्म स्वतंत्रता सुधार अधिनियम लागू होने के बाद गुजरात के वापी में लव जेहाद का दूसरा मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी और युवती को वापी लाने के बाद पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस की पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। आरोपी ने अपनी पत्नी को शादी की पहली रात में युवती को फंसाने व उसे घर से भगाकर ले जाने के बारे में बता दिया था। इससे जाहिर है कि पत्नी की मूक सम्मति थी।

बता दें, वापी की 19 वर्षीय जैन युवती को आरोपी इमरान वशी अंसासी (मूल निवासी- पश्चिम बंगाल) भगा ले गया था। पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर दोनों को इंदौर से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों का बयान दर्ज कर लिया है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि पत्नी को शादी की पहली रात में ही सबकुछ बता दिया था। इसके बाद आरोपी युवती को पहले अजमेर और फिर इंदौर लेकर चला गया था। पुलिस का मानना है कि पत्नी ने भी मदद की है। क्योंकि, इंदौर में रहते हुए भी वह लगातार पत्नी के संपर्क में था।

वापी पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर दोनों को इंदौर से गिरफ्तार किया था।

वापी पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर दोनों को इंदौर से गिरफ्तार किया था।

पड़ोस में रहने से आरोपी को पूरी जानकारी थी
आरोपी इमरान वशी अंसारी युवती के पड़ोस में रहता था। उसे युवती के परिवार की पूरी जानकारी थी। पड़ोस में रहने से आरोपी को युवती के नजदीक आने का मौका मिला। आरोपी इमरान लड़की को शादी का लालच देकर अपने साथ भगा ले गया था। लड़की का कहना है कि इमरान ने उसे धमकी दी थी कि उसकी बात न मानने पर वह उसके भाई को जान से मार देगा।

शादी का लालच देकर 10 जून को भगाकर ले गया था
आरोपी और पीड़िता वापी से पहले अजमेर शरीफ गए थे। यहां मस्जिद में शादी की कोशिश की थी, लेकिन कुछ कारणों से असफल रहे थे। इसके बाद आरोपी पीड़िता को लेकर इंदौर चला गया था और एक परिचित की मदद से वहीं रह रहा था। जानकार मिलने पर पुलिस की टीम इंदौर पहुंची और आरोपी व पीड़िता को वापी लेकर आई। पुलिस ने बताया कि इंदौर से आने के बाद युवती अपने परिवार के साथ है। उसके पास से चार ताबीज भी मिले हैं, जो इमरान की पीर के पास से लाया था।

आरोपी समीर अब्दुल कुरैशी, जिसने अपना नाम सैम बताकर की थी पीड़िता से दोस्ती।

आरोपी समीर अब्दुल कुरैशी, जिसने अपना नाम सैम बताकर की थी पीड़िता से दोस्ती।

राज्य का पहला लव-जिहाद का मामला वडोदरा में सामने आया था
राज्य सरकार द्वारा गुजरात धर्म स्वतंत्रता संशोधन अधिनियम लागू करने के तीन दिन बाद पहला मामला वडोदरा के गोत्री पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था। वडोदरा के रहने वाले समीर अब्दुल कुरैशी ने सोशल मीडिया पर ईसाई नाम मार्टिन सैम नाम बताकर एक हिंदू लड़की से दोस्ती की और उसके साथ दुष्कर्म किया। उसे उसके साथ यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर किया।

इस दौरान पीड़िता दो बार गर्भवती हुई, जिसका आरोपी ने गर्भपात करा दिया था। लड़की ने युवक के खिलाफ गोत्री थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। गोत्री पुलिस ने युवक के खिलाफ रेप एंड एट्रोसिटीज एक्ट और गुजरात फ्रीडम ऑफ रिलीजन एक्ट-2021 की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

खबरें और भी हैं…

गुजरात | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

गुजरात में जल्दी चुनाव कराने बीजेपी ने बनाई रणनीति: अगले साल फरवरी में उत्तर प्रदेश के साथ गुजरात में चुनाव की संभावना

गांधीनगर9 घंटे पहले कॉपी लिंक गुजरात में अब भाजपा सरकार में कोई नेतृत्व परिवर्तन नहीं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *