Breaking News

वैक्सीन के लिए लेटलतीफी भारी न पड़ जाए: भारत सरकार और फाइजर के बीच जवाबदेही वाली शर्त अब तक कागज पर नहीं; टीके के लिए अगस्त तक इंतजार करना पड़ सकता है

  • Hindi News
  • International
  • The Deal With Pfizer Did Not Go Ahead, The Vaccine Is Now Till August, The Condition Of Accountability Between The Government Of India And The Company Is Not On Paper Yet

न्यूयॉर्क5 घंटे पहलेलेखक: न्यूयॉर्क से भास्कर के लिए मोहम्मद अली

  • कॉपी लिंक

भारत को फाइजर की वैक्सीन के लिए अगस्त तक इंतजार करना पड़ सकता है। फाइजर के अमेरिकी सूत्र बता रहे हैं कि भारत सरकार और कंपनी के बीच जवाबदेही वाली शर्त पर बनी सहमति अब तक कागज पर नहीं उतरी है। दरअसल, कंपनी चाहती है कि वैक्सीन के दुष्प्रभाव होने पर उसकी जवाबदेही न रहे।

भारत सरकार इसके लिए एक महीने पहले ही राजी हो गई थी। भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने इसे लेकर अमेरिका में फाइजर के कुछ अफसरों से मुलाकात भी की थी। लेकिन, अब इस डील में देरी होती दिख रही है।

फाइजर के कुछ उच्च पदस्थ अफसरों ने भास्कर को बताया कि कंपनी जुलाई में ही टीके देने को तैयार थी, लेकिन भारत सरकार ने बात तय होने के बाद भी अब तक कोई लिखित प्रपोजल नहीं दिया है। इसलिए अब अगस्त के आखिर या सितंबर में ही भारत को टीके की सप्लाई संभव हो सकेगी। वो भी तब अगर भारत सरकार तत्काल कुछ फैसला लेती है। मई में फाइजर के अधिकारियों ने भास्कर को बताया था कि कंपनी जुलाई से अक्टूबर के बीच 5-7 करोड़ वैक्सीन भारत भेजेगी।

भारत काफी ज्यादा समय ले रहा
फाइजर की एक अधिकारी ने बताया कि भारत सरकार ने मई के मध्य में ही हामी भरी थी कि वह मांगें मानने को तैयार है। लेकिन, बाकी देशों की तुलना में भारत ने प्रक्रिया आगे बढ़ाने में काफी अधिक समय ले लिया है। ब्रिटेन ने सिर्फ तीन दिन में मंजूरी दे दी थी। भारत में इस बात को लेकर महीना होने वाला है। इसका असर सप्लाई पर पड़ना तय है।

काफी वक्त बर्बाद हो चुका
एक अन्य अधिकारी ने बताया कि बहुत समय पहले ही बर्बाद हो चुका है, क्योंकि केंद्र सरकार के बजाए राज्य हमसे सीधे संपर्क कर रहे थे। ऐसा दुनिया के किसी भी देश में नहीं हो रहा था। इससे केवल भ्रम फैला और अनावश्यक देरी हुई।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

PoK में असेंबली इलेक्शन के लिए वोटिंग: पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 45 सीटों पर 30 लाख से अधिक वोटर मतदान कर रहे, बड़ी तादाद में सैनिकों की तैनाती

इस्लामाबाद22 मिनट पहले कॉपी लिंक पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हफ्तों चली पॉलिटिकल रैलियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *