Breaking News

शहीद के अपमान से आक्रोशित ग्रामीण: रिटायर्ड एएसआई के उकसाने पर मंदबुद्धि ने शहीद दयाचंद जाखड़ की प्रतिमा को किया खंडित, स्कूल प्रशासन ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर नई प्रतिमा लगाने की उठाई मांग

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • At The Instigation Of Retired ASI, Retarded Ruined The Statue Of Martyr Dayachand Jakhar, The School Administration Submitted A Memorandum To The SDM And Raised The Demand For Installation Of A New Statue

सीकर35 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शहीद की खंडित प्रतिमा

लक्ष्मणगढ़ के रहनावा गांव के शहीद दयाचंद जाखड़ की प्रतिमा को सुबह मंदबुद्धि ने खंडित कर दिया। सरकारी स्कूल में लगी प्रतिमा को पत्थर से वार करके गर्दन तक तोड़ दिया है। जिस समय मंदबुद्धि प्रतिमा तोड़ रहा था उस समय उसके साथ रिटायर एएसआई भी था। माना जा रहा है कि उसके उकसाने पर ही मंदबुद्धि ने प्रतिमा खंडित की है।

बलारा एसएचओ बाबूलाल मीणा ने बताया कि आर्मी की जाट रेजीमेंट में लांस नायक रहे दयाचंद जाखड़ ने आपरेशन विजय में सर्वोच्च बलिदान दिया था। गांव के सरकारी स्कूल में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री सुभाष महरिया ने शहीद की ​मूर्ति का अनावरण किया था।

जानकारी के अनुसार सुबह करीब 8 बजे मंदबृद्धि 40 वर्षीय महावीर प्रसाद और रिटायर एएसआई भदेल सिंह स्कूल में गए थे। स्कूल के पीछे की तरफ कमरे बनाने का काम चल रहा है। वहां पर कारीगरों से मिलकर लौट आए तो कुछ ही देर बाद तेज आवाज सुनाई दी। कारीगरों ने बताया कि शहीद के स्टेच्यू के पास महावीर खड़ा था और नीचे भदेल सिंह था।

पुलिस ने भदेल को हिरासत में ले लिया है। जानकारी में आया है कि भदेल शहीद परिवार से शुरू से ऐंठन रखता था। सीधे तौर भदेल ने प्रतिमा को नुकसान नहीं पहुंचाकर मंदबुद्धि के जरिए प्रतिमा तुड़वाई। वहीं शहीद की प्रतिमा खंडित होने के बाद गांव वाले आक्रोशित हो उठे। स्कूल प्रशासन ने ही थाने में मामला दर्ज कराया है।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

लैंड स्लाइड सीकर के परिवार को दे गया गम: एक माह पहले मुंबई से आए थे सीकर, यहां से घूमने के लिए निकल गए टूर ग्रुप में, हिमाचल पहुंचे तो चट्‌टानों ने मां, बेटे और बेटी को दे दी मौत

Hindi News Local Rajasthan Sikar A Big Rock Fell On The Car Of People Who …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *