Breaking News

संसद में गूंजी कुंभलगढ़ की आवाज: सांसद दीया कुमारी ने उठाया मुद्दा, बोली- मौजूदा अभयारण्यों में बाघों की बढ़ी संख्या से टेरेटरी की समस्या, इसलिए कुंभलगढ़ को टाइगर रिजर्व घोषित करें

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • MP Diya Kumari Raised The Issue, Said The Problem Of Territory Due To The Increased Number Of Tigers In The Existing Sanctuaries, Therefore Declare Kumbhalgarh As Tiger Reserve

जयपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सांसद दीया कुमारी संसद में।

लोकसभा में मानसून सत्र के पहले ही दिन सांसद दीयाकुमारी ने राजस्थान में 5वें संभावित बाघ अभयारण्य के रूप में कुंभलगढ़ को विकसित करने की मांग उठाते हुए कहा कि कुम्भलगढ़ अभयारण्य 1280 वर्ग किलोमीटर से अधिक में फैला है, जो सरिस्का से बड़ा है। यहां 1970 के दशक से बाघों की उपस्थिति दर्ज की गई है।

नियम 377 के तहत लोकसभा में बोलते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि वर्तमान में शिकार का आधार प्रारंभिक चरण में 4 बाघों के लिए पर्याप्त है और आने वाले वर्षों में कम से कम 45 बाघों को रखने की क्षमता रखता है। रणथंभौर में, बाघों की बढ़ती आबादी नए इलाके की तलाश में संरक्षित क्षेत्रों से भटक रही है और इसके परिणामस्वरूप मानव और बाघों के बीच संघर्ष देखने को मिल रहा है। सांसद ने कहा कि मौजूदा टाइगर रिजर्व को संरक्षित करते हुए नए टाइगर रिजर्व विकसित करना बहुत महत्वपूर्ण है। देश में बाघ संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए कुम्भलगढ़ में बाघों को लाने की प्रक्रिया को भी गति देना चाहिए।

प्रश्न काल में कौशल विकास के सम्बंध में पूछा प्रश्न

सांसद दीयाकुमारी ने कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्री से प्रश्न करते हुए पूछा कि देश में, जिले वार प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्रों की संख्या का विवरण क्या है तथा पिछले तीन वर्षों में राजस्थान सहित पूरे देश में प्रशिक्षित छात्रों एवं प्रशिक्षण के बाद कार्यरत छात्रों की कुल संख्या का आंकड़ा कितना है।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

आपसी विवाद में युवक का अपहरण कर बेरहमी से पिटाई: होटल पर बैठे युवक का एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने किया अपहरण, गोदाम में ले जाकर बुरी तरह की मारपीट

Hindi News Local Rajasthan More Than A Dozen People Kidnapped The Young Man Sitting At …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *