Breaking News

सब्र का बांध टूटा तो खुद बना लिया बांध: बेतिया में प्रशासन के आश्वासन के बाद भी बांध का कटाव नहीं रोका गया तो लोगों ने खुद उठा लिया कुदाल, श्रमदान से बना रहे बांध

बेतिया5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बेतिया में श्रमदान से बांध रहे लोग।

बेतिया के मझौलिया में सिकरहना नदी का जल स्तर घटते ही जमीन दारी बांध में मिट्टी कटाव शुरू। बथना के ग्रामीणों ने क्षेत्र को बचाने के लिए स्वयं उठाया कुदाल और टोकरी।

बेतिया के मझौलिया प्रखंड के तिरवाह क्षेत्र में सिकरहना नदी ने अब बारिश थमने के बाद कटाव शुरू कर दिया है। ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई, प्रशासन से कई बार शिकायत की, लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला। बथना में नदी के कटाव से परेशान ग्रामीणों ने आखिर में खुद कुदाल थाम ली। श्रमदान से नदी का बांध मरम्मत करने लगे।

ग्रामीणों ने जमीनदारी बांध पर मिट्टी और बालू भरने का काम खुद शुरू कर दिया। प्रशासन द्वारा महज कुछ टेलर मिट्टी-बालू गिरा कर खानापूर्ति कर दी गई थी, लेकिन नदी का जलस्तर कम होते ही बांध पर से मिट्टी कट कट कर गिरने लगी, जिससे बांध के अस्तित्व पर संकट गहरा गया। इसे देख ग्रामीणों ने आपसी सहयोग से JCB मशीन की व्यवस्था की और खुद माथे पर पगड़ी बांध कुदाल और टोकरी लेकर बांध की मरम्मत में जुट गए।

सरपंच पति फिरोज शाह सहित गांव के लोग बांध की मरम्मत में जुटे हुए हैं। इनके हौसले को देख हरपुर गढ़वा पंचायत की मुखिया साजदा तबस्सुम और जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अली असगर ने बांध मरम्मत के दौरान हरसंभव आर्थिक सहयोग देने का आश्वासन दिया है। इनका कहना है कि प्रशासनिक स्तर पर बचाव के लिए अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है। ग्रामीणों की पहल सराहनीय है।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

मुजफ्फरपुर में EVM लोड पिकअप को लोगों ने घेरा: पिकअप से कार को लगी ठोकर तो लोगों ने किया हंगामा, कर्मियों से भिड़े

मुजफ्फरपुर23 मिनट पहले कॉपी लिंक EVM लोड पिकअप को घेरे स्थानीय लोग। मुजफ्फरपुर में मतदान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *