Breaking News

समस्या: जीएसटी रिटर्न भरने के लिए दुकानदार तैयार, रजिस्ट्रेशन कैंसिल है तो नहीं हो रहा लॉग-इन

चंडीगढ़3 घंटे पहलेलेखक: गुलशन कुमार

  • कॉपी लिंक

केंद्र की एमनेस्टी स्कीम के बावजूद ट्राईसिटी में हजारों दुकानदार जीएसटी नंबर होने के बाद भी जीएसटी के साथ बिजनेस नहीं कर पा रहे हैं। वे किसी कारण से मासिक रिटर्न नहीं भर पाए। मासिक जीएसटी के साथ हजारों-लाखों रुपए की लेट फीस भी जुड़ गई। तीन लगातार रिटर्न न भरने के कारण उनके जीएसटी नंबर कैंसिल हो गए। ट्राईसिटी के हजारों जीएसटी नंबर धारक चाहकर भी अपनी पेंडिंग जीएसटी रिटर्न नहीं भर पा रहे हैं। जीएसटी काउंसिल ने राहत देते हुए एमनेस्टी स्कीम लागू की।

उन्हें जुलाई, 2017 से अप्रैल, 2021 तक जीरो टैक्स पर 500 रुपए टैक्स के साथ 1000 रुपए जुर्माने के साथ जीएसटी रिटर्न फाइल की सुविधा मिली। चंडीगढ़ चार्टर्ड अकाउंट्स टैक्सेशन एसोसिएशन के सेक्रेटरी सीए मनोज कोहली ने कहा कि ट्राईसिटी में चार सालों में जीएसटी रिटर्न फाइल न करने वालों की संख्या चार-पांच हजार है। सरकार ने एमनेस्टी स्कीम तो ला दी है लेकिन उनकी जीएसटी नंबर रजिस्ट्रेशन ही कैंसिल है तो वे जीएसटी पोर्टल पर लॉगइन कैसे करेंगे। ऐसे में वे फाइन के साथ भी जीएसटी रिटर्न फाइन के साथ भी नहीं भर सकते हैं। जीएसटी अधिकारियों से कोई हल नहीं मिला तो अब वित्त मंत्री को पत्र लिखा है।

वित्त मंत्री को लेटर लिख मांगी राहत: चंडीगढ़ चार्टर्ड अकाउंट्स टैक्सेशन एसोसिएशन ने केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और चेयरमैन, जीएसटी काउंसिल को पत्र लिखकर समस्या का समाधान करने के लिए कहा है। एसोसिएशन के सेक्रेटरी सीए मनोज कोहली ने कहा कि मामला हल होने पर सरकार को बकाया पड़े करोड़ों रुपए का जीएसटी जुर्माने के साथ प्राप्त होगा।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

डीसी ऑफिस के पास ट्रायल शुरू: सड़कों पर कैमरे की नजर आपकी स्पीड और नंबर प्लेट पर रहेगी

मोहाली3 घंटे पहलेलेखक: मनोज जोशी कॉपी लिंक चंडीगढ़ की तर्ज पर अब आने वाले समय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *