Breaking News

सावधान: डीआईजी ने ठगों से बचने को लाेगों से अपील की, कोरोना के दौरान सक्रिय साइबर ठगों से सतर्क रहें

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हिसार15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

डीआईजी बलवान सिंह राणा ने कोरोना के दौरान सक्रिय साइबर अपराधियों से नागरिकों को सावधान व सतर्क रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि साइबर अपराधी मोबाइल एप, ई-मेल, मैसेज लिंक और फोन पर बात करके गोपनीय जानकारी ले लेते हैं, इसलिए नागरिक ऐसे साइबर अपराधियों से सावधान रहते हुए अपनी गोपनीय जानकारियां या किसी प्रकार का ओटीपी शेयर ना करें।

डीआईजी ने कहा कि कोरोना के समय का फायदा उठाते हुए साइबर ठग कोरोना का मुफ्त इलाज, दवा, वैक्सीन, संक्रमित न होने के दावे, ऑक्सीजन स्तर जांच, कोरोना काल में लोगों की सहायता और इलाज में खर्च रकम की प्रतिपूर्ति करने के नाम पर ई-मेल, एप मैसेज भेजकर ठग झांसे में ले सकते हैं। बैंक खाते की पूरी जानकारी लेने के बाद ऑनलाइन फ्रॉड किया जा सकता है।

इसी प्रकार से पेंशन धारकों को भी जालसाजी से सावधान रहने की आवश्यकता है। रिटायर हुए कर्मचारियों का डाटा लेकर पेंशनधारकों से भी फ्रॉड किया जा सकता है। पेंशन धारकों का भरोसा जीतने के लिए अपराधी उनकी सर्विस रिकाॅर्ड, बैंक अकाउंट, पेंशन भुगतान आदेश व मासिक पेंशन की जानकारी देते हैं।

ऐसे में पेंशनधारक साइबर अपराधियों को पेंशन निदेशालय का कर्मी समझ कर विश्वास न करें। अपराधी जीवन प्रमाण-पत्र जमा नहीं होने के कारण पेंशन रोके जाने की बात कहते हैं और इसका फायदा उठाकर पेंशन धारक के मोबाइल पर एक एसएमएस भेजते हैं, जिसमें ओटीपी होता है।

इसके बाद पेंशन धारक से ओटीपी बताने के लिए कहा जाता है। यह ओटीपी मिलते ही ठग पेंशनधारक के खाते में जमा रुपये ऑनलाइन दूसरे खाते या ई-वालट में ट्रांसफर कर लेते हैं। पेंशन धारकों को ऑनलाइन प्रमाण-पत्र जमा करने को विभाग से कोई फोन नहीं किया जाता है।

ऐसे में अगर किसी व्यक्ति के पास जीवन प्रमाण-पत्र अपडेट करने का फोन आता है, तो वह ठगी का मकसद हो सकता है। यदि किसी पेंशन धारक ने अभी तक अपना जीवन प्रमाण पत्र ट्रेजरी या बैंक आदि में जमा नहीं करवाया है तो वे स्वयं उपस्थित होकर या आधिकारिक माध्यमों से ही अपना प्रमाण पत्र जमा करवाएं।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

हरियाणा में हालत-ए-प्रशासन: दीवाली बाद आएगी सैंपल रिपोर्ट; कारण- अधिकारियों के कंधों पर अतिरिक्त कार्यभार; लोग खुद परखें मिठाइयों की गुणवत्ता

Hindi News Local Haryana Rohtak Sample Report Of Sweets To Be Taken In View Of …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *