Breaking News

सॉल्यूशन: जीएम बोले- ईजी बिल पर ओटीपी आने में देरी होती है, तुरंत रीसेंड बटन न दबाएं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची18 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • लोग ओटीपी के लिए तुरंत रीसेंड का ऑप्शन दबा दे रहे

कोरोना संक्रमण के बीच जेबीवीएनएल ने आम लोगों को सुविधा प्रदान करते हुए सेल्फ बिलिंग एप EZY-Bill को शुरू किया। इसके जरिए लोग खुद ही मीटर रीडिंग की फोटो अपलोड करके, बिल देख और निकाल सकते थे। क्योंकि, अभी संक्रमण के कारण मीटर रीडर घर-घर मीटर रीडिंग करने व बिल वितरण करने नहीं जा रहे हैं। लोगों की शिकायत है कि सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद जब ओटीपी डाला डाला जाता है, तब स्वीकार नहीं होता है। रीसेंड करने पर भी यह स्वीकार नहीं करता है। इससे उपभोक्ता परेशान हैं। किसी का तो ओटीपी भी नहीं आ रहा है।

इस पर जेबीवीएनएल के आईटी जीएम संजय सिंह ने कहा कि सर्वर में अधिक लोड होने से ओटीपी का एसएमएस देर से जा रहा है। लोग ओटीपी के लिए तुरंत रीसेंड का ऑप्शन दबा दे रहे हैं। इस दौरान पहले वाला ओटीपी आ जा रहा है, जिसे डालने पर ओटीपी को अवैध बताया जा रहा है। ओटीपी के लिए थोड़ा इंतज़ार करें। तुरंत, रीसेंड का ऑप्शन क्लीक ना करें।

सचिव का निर्देश…2000 से अधिक बिल बकाएदारों का कनेक्शन काटे

दूसरी ओर, उर्जा सचिव सह जेबीवीएनएल के एमडी अविनाश कुमार शुक्रवार को राजस्व की समीक्षा की, जिसमें पाया कि अप्रैल व मई में राजस्व में 80 प्रतिशत की गिरावट आई है। ऐसे में जेबीवीएनएल को आने वाले दिनों में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। वेतन तक में दिक्कतें आ सकती हैं। ऑपरेशन-मेंटेनेंस के समान की खरीदी, बिजली खरीदी आदि में दिक्क्तें आ सकती हैं। उन्होंने सारे जीएम व अधीक्षण अभियंता को हिदायत दिया है कि हर हाल में जून से स्पॉट बिलिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिनका बकाया दो हजार से उपर का है, बिजली कनेक्शन काटें। मालूम हो कि जेबीवीएनएल का मासिक राजस्व वसूली का लक्ष्य 550 करोड़ की है, जिसमें 80 फीसदी तक गिरावट दर्ज की गई है।

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

रफ्तार पर ब्रेक: बारिश के कारण थर्ड लाइन निर्माण का प्रोजेक्ट हुआ लेट, अगस्त 2022 तक भी पूरा होने पर संशय

जमशेदपुर4 घंटे पहले कॉपी लिंक गालूडीह में पुल के एप्रोच का बंद काम। 3 साल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *