Breaking News

हादसे की आशंका: बस स्टैंड रोड के इन खतरनाक नालों पर स्लैब तो डलवा दीजिए सरकार; निगम को खुले नाले नजर नहीं आते या जनता की फिक्र नहीं

बिलासपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पुराने बस स्टैंड चौक पर नाले का यह हिस्सा महीनों से ऐसे ही खुला हुआ है। बारिश हो जाए तो गुजरने वालों की जान को खतरा।

बस स्टैंड रोड हो या नेहरू चौक पर निगम कार्यालय के सामने या फिर करबला रोड के खुले नाले, बारिश हो जाए तो राहगीरों की जान पर बन आए। खुले नाले दिन हो या रात व्यस्ततम ट्रैफिक वाले शहर के लिए खतरनाक हैं। 1300 से अधिक नियमित स्टॉफ वाले नगर निगम जहां 100 से अधिक अधिकारी हैं, उनके लिए ये गड्ढे नजर अंदाज करने की चीज बन गए हैं। शायद यही वजह है कि नाले की सफाई करने के लिए खोले गए नालों पर महीना भर बाद भी स्लैब नहीं डाले गए।

विश्वास नहीं होता कि क्या यह वही शहर है जिसे साल 2018 में इज ऑफ लिविंग इंडेक्स में देश भर के 111 शहरों में तेरहवां स्थान मिला था। अपने बिलासपुर में कुछ तो खासियत है। वरना ऐसे ही उसे देश भर के रहने लायक चुनिंदा शहरों में अग्रणी स्थान नहीं मिलता। जल भराव से निबटने नाले खोल कर सफाई सफाई की गई। यह अच्छी बात है पर उस पर वापस स्लैब लगा कर उसे चलने लायक बनाना भी तो जरूरी है। ये स्थिति बताती है कि शहर सरकार आखिर किस ढंग से चल रही है।

जानिए कहां संभल-संभल कर चलना है
पुराने बस स्टैंड चौक पर ऐन डिवाइडर के सामने, डा. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा के पीछे, करबला रोड पर दो स्थानों पर तथा नेहरू चौक पर नाला खतरनाक ढंग से खुला हुआ है। वाल्मीकि चौक पर नाले की जाली गायब है। मोहल्लेवालों ने बचाव के लिए वहां झाड़, झंखाड़ और मिट्टी का घेरा बना दिया है। कुम्हारपारा रोड पर बीती शाम बारिश के दौरान एक महिला खुले नाले में गिर पड़ी। शुक्र है उसे कुछ नहीं हुआ। मामूली चोटें भर आईं।

भर्राशाही: सफाई के महीना भर बाद नाले पर स्लैब नहीं लगाए गए

जिम्मेदार : जोन कमिश्नर प्रवीण शुक्ला ने बताया कि आईजी तिराहे से नाले के स्लैब ढाले जा रहे हैं। बेरिकेडिंग की गई है। स्लैब जल्द लगाएंगे।

जिम्मेदार : जोन कमिश्नर डीके शर्मा के मुताबिक स्लैब की कांक्रीट पकने में 15 दिन लगते हैं। अब तैयार है, उसे जल्द लगाया जाएगा।

जिम्मेदार : हैल्थ ऑफिसर डा. ओंकार शर्मा से संपर्क करने कोशिश की गई, मोबाइल रिसीव नहीं हुआ।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

नेताओं की शिकायत- अफसर हमारी नहीं सुनते: पीएल पुनिया से कांग्रेस जिलाध्यक्षों ने कहा- कार्यकर्ता नाराज हैं, उनका काम नहीं हो पा रहा; विधायकों पर भी समन्वय नहीं बनाने का आरोप

Hindi News Local Chhattisgarh Raipur Congress State Executive Meeting; The Collector SP Does Not Listen …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *