Breaking News

हिमाचल में आने के लिए आरटीपीसीआर रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म, पंजीकरण ही करवाना होगा

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला
Published by: Krishan Singh
Updated Fri, 11 Jun 2021 06:47 PM IST

सार

हिमाचल कैबिनेट ने प्रदेश में प्रवेश के लिए आरटीपीसीआर की अनिवार्यता को खत्म करने का फैसला लिया है। 

कोरोना टेस्ट(सांकेतिक)
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

प्रदेश सरकार ने हिमाचल में आने के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म कर दी है। शुक्रवार को कैबिनेट बैठक में कोरोना की आरटीपीसीआर रिपोर्ट की अनिवार्यता को खत्म करने का फैसला लिया गया है। हालांकि, प्रदेश में प्रवेश के लिए हिमाचल सरकार के कोविड ई-पास पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। इससे सबसे ज्यादा राहत पर्यटकों को मिली है।  

अब प्रदेश में 14 जून से कोरोना कर्फ्यू शाम पांच बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा। धारा 144 खत्म कर दी गई है। सुबह नौ से शाम पांच बजे तक सभी दुकानें खुलेंगी। प्रदेश में 14 जून से राज्य के भीतर ही बसें चलेंगी। कोरोना की बंदिशों के चलतेबसों में 50 फीसदी सीटों पर ही यात्री बैठ सकेंगे। फिलहाल बाहरी राज्यों के लिए अभी बस सेवाएं शुरू नहीं होंगी।  सुबह 9 से शाम 5 बजे तक बसें चलेंगी। वहीं, शादी समारोह में अभी भी 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

बता दें प्रदेश में  कोरोना कर्फ्यू की बंदिशों का असर करने का अब पर्यटन क्षेत्र पर व्यापक असर पड़ा है।  सूबे के प्रमुख पर्यटक शहरों शिमला, मनाली, धर्मशाला और डलहौजी में पर्यटन गतिविधियां ठप पड़ी थीं। हालांकि पिछले एक सप्ताह से कम संख्या में सैलानी हिमाचल पहुंच रहे हैं। लेकिन कोरोना कर्फ्यू की बंदिशों से सारा मजा किरकिरा हो रहा था। लेकिन शुक्रवार को  कैबिनेट बैठक में पर्यटकों को बड़ी राहत दी गई है। अब पर्यटकों की संख्या बढ़ने से न सिर्फ व्यवसायिक संस्थानों में रौकन बढ़ जाएगी, बल्कि सभी की आमदनी में भी इजाफा होगा।  

पिछले 10 दिनों के दौरान हिमाचल प्रदेश में 65 हजार से ज्यादा लोगों ने प्रवेश किया है। कोविड ई पास साफ्टवेयर पर 29 हजार 548 पास जारी किए गए जबकि 65 हजार 384 लोग प्रदेश के अंदर दाखिल हुए। इनमें सोलन में 14866, कांगड़ा में 12733, ऊना में 9742, कुल्लू में 6471, शिमला में 5307, मंडी में 4628, हमीरपुर में 115, बिलासपुर में 2615, सिरमौर में 2216, चंबा में 2184, लाहौल स्पीति में 337 और किन्नौर में 190 लोग पहुंचे हैं। 

विस्तार

प्रदेश सरकार ने हिमाचल में आने के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म कर दी है। शुक्रवार को कैबिनेट बैठक में कोरोना की आरटीपीसीआर रिपोर्ट की अनिवार्यता को खत्म करने का फैसला लिया गया है। हालांकि, प्रदेश में प्रवेश के लिए हिमाचल सरकार के कोविड ई-पास पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। इससे सबसे ज्यादा राहत पर्यटकों को मिली है।  

अब प्रदेश में 14 जून से कोरोना कर्फ्यू शाम पांच बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा। धारा 144 खत्म कर दी गई है। सुबह नौ से शाम पांच बजे तक सभी दुकानें खुलेंगी। प्रदेश में 14 जून से राज्य के भीतर ही बसें चलेंगी। कोरोना की बंदिशों के चलतेबसों में 50 फीसदी सीटों पर ही यात्री बैठ सकेंगे। फिलहाल बाहरी राज्यों के लिए अभी बस सेवाएं शुरू नहीं होंगी।  सुबह 9 से शाम 5 बजे तक बसें चलेंगी। वहीं, शादी समारोह में अभी भी 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

बता दें प्रदेश में  कोरोना कर्फ्यू की बंदिशों का असर करने का अब पर्यटन क्षेत्र पर व्यापक असर पड़ा है।  सूबे के प्रमुख पर्यटक शहरों शिमला, मनाली, धर्मशाला और डलहौजी में पर्यटन गतिविधियां ठप पड़ी थीं। हालांकि पिछले एक सप्ताह से कम संख्या में सैलानी हिमाचल पहुंच रहे हैं। लेकिन कोरोना कर्फ्यू की बंदिशों से सारा मजा किरकिरा हो रहा था। लेकिन शुक्रवार को  कैबिनेट बैठक में पर्यटकों को बड़ी राहत दी गई है। अब पर्यटकों की संख्या बढ़ने से न सिर्फ व्यवसायिक संस्थानों में रौकन बढ़ जाएगी, बल्कि सभी की आमदनी में भी इजाफा होगा।  

पिछले 10 दिनों के दौरान हिमाचल प्रदेश में 65 हजार से ज्यादा लोगों ने प्रवेश किया है। कोविड ई पास साफ्टवेयर पर 29 हजार 548 पास जारी किए गए जबकि 65 हजार 384 लोग प्रदेश के अंदर दाखिल हुए। इनमें सोलन में 14866, कांगड़ा में 12733, ऊना में 9742, कुल्लू में 6471, शिमला में 5307, मंडी में 4628, हमीरपुर में 115, बिलासपुर में 2615, सिरमौर में 2216, चंबा में 2184, लाहौल स्पीति में 337 और किन्नौर में 190 लोग पहुंचे हैं। 

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

About R. News World

Check Also

24 घंटे के अंदर दूसरा आतंकी हमला: एक बार फिर पुलिस-सीआरपीएफ के जवानों को आतंकियों ने बनाया निशाना

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: प्रशांत कुमार Updated Sat, 12 Jun 2021 12:25 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *