Breaking News

हेल्थ जागरुकता कार्यक्रम में डाॅक्टर की सलाह: कोरोना के खतरे को देखते हुए दूसरी लहर के दौरान जिन्होंने ऑपरेशन टाल दिए थे, उन्हें अब करा लेने चाहिए

फरीदाबाद7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वरिष्ठ सर्जन डॉ. प्रबल राय

सेक्टर-16 में स्वास्थ्य जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें वरिष्ठ सर्जन डॉ. प्रबल राय ने कहा कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अनेक मरीज ऐसे थे, जिनके कैंसर, हर्निया, गठिया जैसे विभिन्न प्रकार के ऑपरेशन होने थे। लेकिन कोरोना के डर से डॉक्टरों को सामान्य ऑपरेशन टालने पड़े थे। इनमें कई गंभीर मरीज भी थे, जिन्होंने कोरोना के खतरे को देखते हुए स्वयं ऑपरेशन टाल दिए थे। लेकिन अब उन्हें तीसरी लहर आने से पहले रुके हुए ऑपरेशन करा लेने चाहिए।

डॉ. प्रबल राय ने कहा कि कोविड के आज दो चैलेंज हैं। एक शारीरिक और दूसरा मानसिक। जिनका शारीरिक कोरोना संक्रमण से फेफड़े कमजोर हो गए या किसी अन्य ऑर्गन में समस्या हो गई। जब तक उसकी मेडिकल क्लीयरेंस नहीं मिल जाती तब तक इलेक्टिव (प्लान) सर्जरी नहीं करानी चाहिए। इमरजेंसी ऑपरेशन कोविड के दौरान काफी हुए हैं। वह अभी भी कराए जा सकते हैं। उन्होंने कहा ऐसे मरीज जिन्हें कोरोना हुआ था, लेकिन शारीरिक तौर पर अब ठीक हो गए हैं। मानसिक परेशानी अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है। अभी उन्हें चक्कर आना, कमजोरी आना या दूसरी किस्म की परेशानियां महसूस होती हैं। ऐसे ऑपरेशन बहुत लंबे समय के लिए नहीं छोड़ना चाहिए। कुछ ऐसे ऑपरेशन हैं जिन्हें समय पर करा लेना चाहिए। तीसरी लहर को लेकर संभावना जताई जा चुकी है। यूके और यूएस में अचानक से कोरोना के मरीज बढ़ने शुरू हो गए हैं। भारत में भी दो-तीन माह में आने की पूरी संभावना है। इसलिए मानसिक समस्याओं से जूझ रहे लोगों को काउंसलिंग करा कर आने ऑपरेशन तीसरी लहर से पहले करा लेना चाहिए। डॉ. प्रबल ने कहा जिले में कोरोना के संक्रमित मरीज भले ही कम हो गए हैं, लेकिन अभी कोरोना की दूसरी लहर खत्म नहीं हुई है। इन सबके बीच लोगों की लापरवाही विशेषज्ञों को चिंता में डाले हुए हैं। जहां लोग सितंबर और अक्टूबर में तीसरी लहर का अनुमान लगा रहे हैं। अगर लापरवाही का यही आलम रहा तो जल्द दस्तक दे सकती है।

खबरें और भी हैं…

दिल्ली + एनसीआर | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

1800 102 9882 इस पर करें कॉल: ई-वेस्ट निपटान के लिए ईडीएमसी ने जारी किया गया टोल फ्री नंबर, 21 प्रकार के ई-वेस्ट की लिस्ट बनाई

नई दिल्ली3 मिनट पहले कॉपी लिंक ई-वेस्ट के प्रबंधन एवं निपटान के लिए एजेंसी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *