Breaking News

BJP पर आरोप केन्द्र में, सफाई बिहार में: पेगासस जासूसी मामले पर प्रदेश भाजपा ने दी सफाई; कहा -कांग्रेस की सरकार में हर महीने 9 हजार फोन और 500 ईमेल खातों की निगरानी की जाती थी

पटना8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भाजपा के नीतीश मिश्रा।

संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो गया है और इस सत्र को द वॉशिंगटन पोस्ट के ‘द पेगासस प्रोजेक्ट’ ने हंगामेदार बना दिया है। भाजपा इस मामले में बचाव की मु्द्रा में दिख रही है। लिहाजा पार्टी के नेता दिल्ली से लेकर प्रदेश स्तर तक इस मामले पर सफाई पेश कर रहे हैं। आज पटना में प्रदेश पदाधिकारी नीतीश मिश्रा ने पेगासस मामले पर पार्टी का पक्ष रखा।

पेगासस जासूसी मामले पर प्रदेश भाजपा ने दी सफाई
वॉशिंगटन पोस्ट के ‘द पेगासस प्रोजेक्ट’ नाम से जारी जांच रिपोर्ट को लेकर सरकार विपक्ष के निशाने पर है। इस रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि भारत सरकार इजराइली सॉफ्टवेयर पेगासस का इस्तेमाल कर कई पत्रकारों, नेताओं की जासूसी कर रही है। सरकार को घिरा देख भाजपा इसे लेकर बचाव में उतर आई है। इसी सिलसिले में सभी राज्यों में पार्टी की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मामले पर भाजपा अपना पक्ष रख रही है। बिहार में इस काम का जिम्मा भाजपा ने अपने प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा का सौंपा है। कल ही दिल्ली से लौटे नीतीश मिश्रा ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेस कर इस पूरे मामले पर अपनी सफाई दी ।

मानसून सत्र के एक दिन पहले आना संदेहास्पद है- नीतीश मिश्रा
भाजपा ने रिपोर्ट की टाइमिंग को देखते हुए इसे संदेहास्पद बताया है। नीतीश मिश्रा ने एमनेस्टी जैसी संस्थाओं का एजेंडा ही भारत विरोधी बताया है। उन्होंने कहा कि जब सरकार ने उनसे कानून के अनुसार उनके विदेशी फंडिंग के बारे में पूछा तो उन्होंने भारत से अपना बोरिया बिस्तर समेट लिया। भाजपा ने इस पूरी रिपोर्ट के पीछे कांग्रेस की राजनीति करार दी है। पूर्व मंत्री ने विपक्षी दलों पर ‘ सुपारी एजेंटों के रूप में काम करने का आरोप लगाया है। उन्होंने 2013 की एक RTI जवाब का हवाला देते हुए कहा कि उस समय कांग्रेस की UPA सरकार द्वारा हर महीने लगभग 9,000 फोन और 500 ईमेल खातों की निगरानी की जाती थी।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

SKMCH में फिर AES का मरीज मिला, संख्या पहुंची 52: दो दिनों की शांति के बाद 5 साल का बच्चा वेंटिलेटर पर रखा गया; डॉक्टर बोले- मौसम बदलने से हो रहे बीमार

मुजफ्फरपुर4 घंटे पहले कॉपी लिंक दो दिनों से एक भी AES का मरीज SKMCH में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *