Breaking News

RBI ने 7 साल बाद बदला नियम: अगले साल से ATM से पैसा निकालना पड़ेगा महंगा, महीने में 5 बार फ्री के बाद कैश निकालने पर 21 रुपए लगेंगे

  • Hindi News
  • Business
  • Reserve Bank Of India, RBI, ATM Charge, Cash Withdrawal Fee, Interchange Charge

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

यदि आप बैंक ग्राहक हैं तो यह खबर आपके लिए है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एटीएम ट्रांजेक्शन से जुड़े नियमों में बदलाव किया है। RBI ने बैंकों को वित्तीय-गैर वित्तीय एटीएम ट्रांजेक्शन फीस बढ़ाने की मंजूरी दे दी है। RBI ने बयान जारी कर यह जानकारी दी है।

फ्री ट्रांजेक्शन के बाद कैश निकासी पर 21 रुपए लगेंगे

RBI ने फ्री ट्रांजेक्शन के बाद कैश निकासी पर लगने वाले चार्ज को बढ़ाने की मंजूरी दे दी है। बैंक अभी ग्राहकों से 20 रुपए प्रति ट्रांजेक्शन का चार्ज वसूलते हैं। इसमें टैक्स शामिल नहीं हैं। RBI ने कहा है कि इंटरचेंज फीस ज्यादा होने के कारण लागत की भरपाई के लिए बैंक ग्राहकों से फ्री ट्रांजेक्शन के बाद लिए जाने वाले चार्ज में बढ़ोतरी कर सकेंगे। RBI के मुताबिक, फ्री ट्रांजेक्शन के बाद बैंक अपने ग्राहकों से प्रति ट्रांजेक्शन 20 के स्थान पर 21 रुपए ले सकेंगे। इसमें टैक्स शामिल नहीं हैं। यह नियम 1 जनवरी 2022 से लागू होगा। एटीएम से कैश निकासी पर लिए जाने वाले चार्ज में करीब 7 साल बाद बढ़ोतरी की गई है।

इंटरचेंज चार्ज को 15 से 17 रुपए किया

RBI ने एटीएम ट्रांजेक्शन से जुड़े इंटरचेंज चार्ज में भी बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है। अब सभी बैंक अपने एटीएम ट्रांजेक्शन का इंटरचेंज चार्ज बढ़ा सकेंगे। इस बदलाव के बाद बैंक गैर वित्तीय ट्रांजेक्शन चार्ज को 5 रुपए से 6 रुपए और वित्तीय ट्रांजेक्शन चार्ज को 15 से 17 रुपए कर सकेंगे। हालांकि, इंटरचेंज चार्ज ग्राहकों से नहीं वसूला जाता है। इंटरचेंज ट्रांजेक्शन से जुड़े नियमों में 9 साल बाद बदलाव हुआ है। यह नए नियम 1 अगस्त 2021 से लागू होंगे।

ग्राहकों को फ्री ट्रांजेक्शन मिलते रहेंगे

RBI ने कहा है कि नियमों में बदलाव के बाद भी ग्राहकों को अपने बैंक के एटीएम पर 5 फ्री ट्रांजेक्शन की सुविधा मिलती रहेगी। इसमें वित्तीय और गैर-वित्तीय दोनों प्रकार के ट्रांजेक्शन शामिल हैं। इसके अलावा बैंक ग्राहकों को दूसरे बैंक के एटीएम पर भी फ्री ट्रांजेक्शन की सुविधा मिलती रहेगी। मौजूदा समय में बैंक ग्राहकों को दूसरे बैंक के एटीएम पर मेट्रो शहरों में 3 ट्रांजेक्शन और नॉन-मेट्रो शहरों में 5 ट्रांजेक्शन फ्री की सुविधा मिलती है।

2012 में बदले गए थे इंटरचेंज चार्ज से जुड़े नियम

इससे पहले RBI ने एटीएम ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज चार्ज से जुड़े नियमों में 2012 में बदलाव किया था। जबकि ग्राहकों से लिए जाने वाले एटीएम ट्रांजेक्शन चार्ज में अगस्त 2014 में बदलाव किया था। एटीएम ट्रांजेक्शन से जुड़े चार्ज में बदलाव के लिए RBI ने जून 2019 में एक कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी की सिफारिशों के आधार पर ही अब एटीएम ट्रांजेक्शन चार्ज में बढ़ोतरी करने की मंजूरी दी गई है।

देश में एटीएम की संख्या

31 मार्च 2021 तक देश में ऑनसाइट एटीएम की संख्या 1,15,605 थी। वहीं, ऑफ साइट एटीएम की संख्या 97,970 थी। 31 मार्च 2021 तक देश में सभी बैंकों के करीब 90 करोड़ एटीएम कार्ड चलन में थे। देश में एचएसबीसी बैंक ने 1987 में मुंबई में पहला एटीएम लगाया था। इसके बाद अगले 12 सालों में देश में एटीएम की संख्या बढ़कर 1500 पर पहुंच गई थी।

खबरें और भी हैं…

बिजनेस | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

हफ्ते की तैयारी: शेयर बाजार में बना रहेगा बढ़त का सेंटिमेंट; निवेशकों को मिलेंगे 4 IPO में निवेश के मौके, घरेलू आर्थिक आंकड़ों पर भी होगी नजर

Hindi News Business Share Market Week Ahead: 5 Key Factors That Will Keep Traders Busy …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *