Breaking News

SAD-BSP ने की पुलिस को शिकायत: जालंधर में केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और कांग्रेस सांसद बिट्‌टू पर कार्रवाई की मांग; पंथक-गैर पंथक मुद्दा उठा, दलितों के अपमान का आरोप

  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Demand For Action On Union Minister Hardeep Puri And Congress MP Bittu In Jalandhar; The Allegation Of Insult To Dalits Raised The Issue Of Panthak Non Panthak

जालंधर15 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी व सांसद रवनीत बिट्‌टू।

अकाली दल से गठजोड़ के बाद आनंदपुर साहिब व चमकौर साहिब की सीटें BSP को देने के बाद विपक्षी नेताओं की टिप्पणी का बवाल थम नहीं रहा है। अकाली दल व बसपा ने इसे दलितों का अपमान बताते हुए जालंधर में केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी व लुधियाना से कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्‌टू के खिलाफ अकाली विधायक पवन टीनू की अगुवई में थाना आदमपुर में पुलिस को शिकायत देकर केस दर्ज करने की मांग की है।अकाली-बसपा नेताओं ने कहा कि जबसे उनका गठजोड़ हुआ है, तब से कांग्रेस व BJP के नेता बसपा वर्करों व अनुसूचित जाति वर्ग को नीचा दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हें गैर पंथक ऐलान कर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई जा रही है।

थाना आदमपुर में शिकायत देने पहुंचे अकाली दल व बसपा नेता।

थाना आदमपुर में शिकायत देने पहुंचे अकाली दल व बसपा नेता।

बिट्‌टू ने कहा, पंथक सीटें बसपा को दीं
पहले सांसद बिट्‌टू ने कहा कि पंथक सीटें बसपा को दे दी। बसपा सदियों से लड़ते उन लोगों का प्रतिनिधित्व करती है, जिन्हें अछूत माना जाता था। गुरु साहिबानों ने भी सदियों से लड़ते लोगों को कलगी देकर सम्मान दिया था और श्री आनंदपुर साहिब में दशमेश पिता ने इन्हें रंघरेटे गुरु के बेटे का सम्मान दिया था।

केंद्रीय मंत्री ने भी पंथक व गैर पंथक का मुद्दा खड़ा किया
सी तरह की कोशिश केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने भी की है। उन्होंने भी पंथक व गैर पंथक का मुद्दा खड़ा कर दलितों काे पंथ के दायरे से बाहर खड़ा करने की कोशिश की है। यह अनुसूचित जाति का अपमान है। इसलिए दोनों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

प्रदर्शन: पे-कमीशन की रिपोर्ट के विरोध में कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियर्स ने किया प्रदर्शन, फूंकी कापियां

फतेहगढ़ साहिब3 घंटे पहले कॉपी लिंक कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियर्स ने पे-कमीशन की रिपोर्ट के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *