Breaking News

World Sight Day 2021: जानें क्यों मनाया जाता है विश्व दृष्टि दिवस और क्या है इसका इतिहास

World Sight Day 2021: हर साल अक्टूबर के दूसरे गुरुवार को विश्व दृष्टि दिवस (World Sight Day) मनाया जाता है. इस साल 14 अक्टूबर यानी आज के दिन यह दिवस पूरी दुनिया में मनाया जा रहा है. इसका मुख्य उद्देश्य दुनिया भर के लोगों द्वारा दृष्टि दोष और अंधेपन पर ध्यान केंद्रित करना है.

कोरोना महामारी में ब्लैक फंगस आंखों के नए दुश्मन के रूप में सामने आया है. ऑनलाइन पढ़ाई, ऑनलाइन काम, ऑनलाइन मीटिंग, ऑनलाइन खरीदारी और ऑनलाइन एंटरटेनमेंट समेत अन्य तौर तरीकों के कारण स्क्रीन को ज्यादा समय देने से आंखों के लिए जोखिम बढ़ा है.

विश्व दृष्टि दिवस का उद्देश्य

इस तरह के बीमारी के बारे में जागरूकता लाने के लिए यह दिन पूरी दुनिया में मनाया जाता है. इस दिवस की शुरुआत उन लोगों का समर्थन करने के महत्व को समझने के लिए की गई है जो ठीक से देख नहीं सकते. इस दिन का ध्यान विशेष रूप से इस बात पर केंद्रित है कि ऐसी स्थितियों में लोगों की सहायता के लिए क्या कुछ किया जा सकता है.

पहली बार यह दिवस कब मनाया गया?

इस दिवस को मनाने का खास उद्देश्य है धुंधली दृष्टि, अंधापन और दृष्टि से संबंधित समस्याओं के बारे में जागरूकता पैदा करना है. पहली बार यह दिवस लायंस क्लब इंटरनेशनल फाउंडेशन द्वारा वर्ष 2000 में मनाया गया था.

इस बार की थीम

प्रत्येक साल, विश्व दृष्टि दिवस को चिह्नित करने के लिए एक अलग विषय रखा जाता है. विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (डब्‍ल्‍यूएचओ) ने आंखों के प्रति बढ़ते जोखिम को देख इस बार की थीम ‘लव योर आईज’ (अपनी आंखों से प्यार करें) रखी है. इसका उद्देश्य लोगों को यह बताना है कि वे सतरंगी दुनिया की छवियां दिखाने वाली अपनी आंखों को कैसे सहेजकर अपनी रोशनी सुरक्षित रख सकते हैं.

आंखों के बारे में कुछ रोचक बातें

एक इंसान की आंखों का वजन लगभग 8 ग्राम के बराबर होता है. यह आश्चर्य की बात है कि व्यक्ति एक दिन में 11,500 बार पलकें झपकाता है. साफ मौसम में आंखें लगभग 30 किलोमीटर से भी अधिक दूर तक देख सकती है. शरीर के दूसरे अंगों के मुकाबले आंखे 24 घंटे सक्रिय रहती है. दिमाग के बाद आंखें सबसे जटिल होती है. यह दो मिलियन अलग-अलग तत्वों से बनती है.

विश्व दृष्टि दिवस: पृष्ठभूमि

इसकी पहल करने में इंटरनेशनल एजेंसी फॉर द प्रिवेंशन ऑफ ब्लाइंडनेस (IAPB) ने अहम भूमिका निभाई है. लायंस क्लब इंटरनेशनल फाउंडेशन (LCIF) के साइट फर्स्ट (SightFirst)  कैंपेन की एक पहल से विश्व दृष्टि दिवस (World Sight Day) की शुरुआत साल 1990 में हुई थी. यह संगठन विश्व स्तर पर कई दृष्टि कार्यक्रम चलाता है. इसमें नेत्र देखभाल प्रणालियों के विकास और रखरखाव, दृष्टि बहाल करने वाली सर्जरी के लिए सुविधाएं प्रदान करना और आंखों के रोगों से पीड़ित लोगों के लिए दवा का वितरण करना शामिल है.

 

 

Jagran Josh

About R. News World

Check Also

साप्ताहिक करेंट अफेयर्स क्विज़: 18 अक्टूबर से 24 अक्टूबर 2021 तक

Weekly Current Affairs Quiz Hindi: जागरण जोश प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *